गुरूवार, फ़रवरी 22, 2024
होमख़बरेंचक्रवात मिधिली गहरे अवसाद में कमजोर; उत्तरी राज्य में रेड अलर्ट

चक्रवात मिधिली गहरे अवसाद में कमजोर; उत्तरी राज्य में रेड अलर्ट

नवीनतम घटनाओं से अवगत रहें क्योंकि चक्रवात मिधिली कमजोर होकर गहरे दबाव में बदल गया है, जिससे उत्तरी राज्यों में रेड अलर्ट जारी किया गया है। मौसम की स्थिति, वर्षा की भविष्यवाणी और आने वाले चक्रवाती तूफान के मद्देनजर सहयोगात्मक प्रयासों पर वास्तविक समय पर अपडेट प्राप्त करें।

चक्रवाती तूफान के बांग्लादेश तट के करीब पहुंचने पर मौसम विभाग ने चेतावनी जारी की

Written & Drafted By Shafeek Ahmad, Published On 18-November-2023, 09:20 AM IST.

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने बताया है कि चक्रवाती तूफान “मिधिली” त्रिपुरा और उससे सटे बांग्लादेश के ऊपर गहरे दबाव में कमजोर हो गया है। नवीनतम बुलेटिन के अनुसार, तूफान मैजडीकोर्ट (बांग्लादेश) से लगभग 50 किमी उत्तर-उत्तरपूर्व और अगरतला से 60 किमी दक्षिण-दक्षिणपूर्व में है।

पूर्वोत्तर राज्य भारी वर्षा के प्रभाव के लिए तैयार रहें

बंगाल की खाड़ी के ऊपर बना गहरा दबाव शुक्रवार को चक्रवाती तूफान में बदल गया, जिससे मेघालय, मिजोरम, त्रिपुरा और असम सहित पूर्वोत्तर राज्यों में भारी बारिश हुई। आईएमडी ने चेतावनी दी है कि मौसम की ये स्थिति शनिवार को भी बनी रहने की उम्मीद है।

Cyclone Midhili Weakens to Deep Depression

मिजोरम में एहतियाती कदम उठाने का आग्रह; त्रिपुरा में रेड अलर्ट

मिजोरम में जिला प्रशासन और आपदा प्रबंधन अधिकारियों ने नोटिस जारी कर निवासियों से सतर्क रहने और आवश्यक सावधानी बरतने का आग्रह किया है। इसके साथ ही चक्रवाती तूफान के आगे बढ़ने पर त्रिपुरा के चार जिलों में रेड अलर्ट जारी किया गया है।

पूर्वोत्तर राज्यों में वर्षा की भविष्यवाणी

आईएमडी ने 17 से 18 नवंबर के बीच आइजोल (51 मिमी), चम्फाई (52 मिमी), कोलासिब (58 मिमी), लांगतलाई (52 मिमी) और ममित (56 मिमी) सहित विभिन्न जिलों में महत्वपूर्ण वर्षा का अनुमान लगाया है। राज्य की राजधानी, अगरतला में गुरुवार शाम से अब तक 87 मिमी बारिश दर्ज की जा चुकी है।

नामकरण सम्मेलन और वैश्विक सहयोग

विश्व मौसम विज्ञान संगठन (डब्ल्यूएमओ) और संयुक्त राष्ट्र आर्थिक और सामाजिक आयोग (ईएससीएपी) के सदस्य देशों द्वारा स्थापित सहयोगात्मक प्रयास के हिस्से के रूप में मालदीव द्वारा ‘मिधिली’ नाम दिया गया था। अरब सागर और बंगाल की खाड़ी में चक्रवातों से प्रभावित देशों के नाम क्रमानुसार दिए जाते हैं।

सहयोगात्मक प्रयास और तैयारी

चूंकि चक्रवाती तूफान “मिधिली” उत्तरी क्षेत्रों के लिए एक संभावित खतरा है, इसलिए राष्ट्रों के बीच सहयोग और अंतरराष्ट्रीय निकायों द्वारा स्थापित नामकरण परंपरा का पालन महत्वपूर्ण बना हुआ है। प्रभावित क्षेत्रों के निवासियों से सूचित रहने, एहतियाती उपायों का पालन करने और समन्वित प्रतिक्रिया के लिए स्थानीय अधिकारियों के साथ सहयोग करने का आग्रह किया जाता है।

Source :-


Also join our WhatsApp Channels For Latest Updates :- Click Here to Join Our WhatsApp Channel

Subscribe Our Google News Platform to get the Latest Updates.

Disclaimer:- This news article was written by the help of syndicated feed, Some of the content and drafting are made by the help of Artificial Intelligence (AI) ChatGPT.

About the authorShafeek Ahmad is a freelance writer passionate about business and entrepreneurship. He covers a wide range of topics related to the corporate world and startups. You can find more of his work on eranews.site.

Author

  • Shafeek Ahmad

    Meet Shafeek Ahmad, a dedicated news writer at News Vistaar, with a passion for unearthing stories that matter. With a keen eye for detail and a commitment to delivering accurate and engaging news, Shafeek is a trusted source of information. Bringing years of experience to the table, Shafeek's writing is a blend of expertise and storytelling. In an era of fast-paced news cycles, Shafeek's articles stand out for their precision and commitment to journalistic integrity.

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Most Popular

Recent Comments

%d